अमेरिकी राज्यसचिव की पाकिस्तान को चेतावनी, आतंकवाद के खिलाफ कार्यवाही करे पाकिस्तान

तीन दिन की भारत यात्रा पर आए अमेरिका के राज्यसचिव जॉन केरी ने पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए कहा की पाकिस्तान को स्वदेशी आतंकवादी संघटनों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करनी होगी.सामरिक और वाणिज्यिक वार्ता के लिए भारत आए केरी के प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतंकवाद के विरुद्ध कड़े कदम उठाने की बात को प्राथमिकता दी और भारतीय कर्मचारियों को यूएसए का वीसा आसानी से दिलाने की बात भी अहम रही.

अमेरिकी राज्यसचिव और भारतीय विदेश मंत्री द्वारा की गई साझा प्रेस कांफ्रेंस के दौरान केरी ने कहा की उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और आर्मी प्रमुख से स्पष्ट कहा है की पाकिस्तान अपनी ज़मीन को आतंकवादियो के शरणस्थान की तरह इस्तेमाल करना बंद कर दे. उन्होंने कहा की अमेरिका और भारत की एक मजबूत साझेदारी है और अमेरिका भारत के साथ आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में खड़ा है चाहे वो आतंकवाद जिस भी रूप में हो और कहीं से भी आए.

प्रधानमंत्री के 'अच्छे आतंकवाद' और 'बुरे आतंकवाद' के बीच भेदभाव ना करने की बात को दोहराते हुए केरी ने कहा की 'अच्छा आतंकवाद' , 'बुरा आतंकवाद' जैसा कुछ नहीं है, आतंकवाद एक है और उनके खिलाफ एक सी कार्यवाही होनी चाहिए. उन्होंने कहा की संयुक्त राष्ट्र अमेरिका मुंबई और पठानकोट पर हुए आतंकवादी हमलों के गुनहगारों को सजा दिलाने में प्रतिबद्ध है. साथ ही उन्होंने दक्षिणी एशिया में बढ़ रहे आतंकवाद को रोकने के लिए भारत, अमेरिका और अफ़ग़ानिस्तान की तिपक्षीय बातचीत की घोषणा की.

इस मौके पर भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा की हम इस बात की फिर से पुष्टि करना चाहेंगे की पाकिस्तान को अपनी ज़मीन आतंकवादियों को पनाह देने के लिए बंद करना होगा और लश्कर-ए-तोएबा , जैश-ए-मोहम्मद और डी कंपनी के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही करनी होगी.

Laoding...