गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने दिया इस्तीफा

"गुजरात में होने वाले आम चुनावो से महज एक साल पहले गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. पार्टी में चल रहे भेदभाव और राज्य में चल रहे असंतोष की वजह से उन्होंने ये फैसला लिया। माना जा रहा है की अमित शाह के नेतृत्व वाला बीजेपी समूह आनंदीबेन पटेल के कामकाज से संतुष्ठ नहीं था और इस से पहले उनको हटाया जाए उन्होंने खुद अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

हालाँकि उन्होंने अपने बयान में उम्र का हवाला देते हुए कहा की पार्टी का नियम है की 75 वर्ष की आयु के बाद आपको अपना पद छोड़ना पड़ता है और वो इस वर्ष नवंबर में 75 वर्ष की होने वाली हैं, पर इसकी मुख्य वजह पिछले कई दिनों से हार्दिक पटेल के नेतृत्व में चल रहा पटेल आंदोलन और हाल ही में शुरू हुए दलित आंदोलन को सँभालने में सरकार की नाकामी मानी जा रही है.

गुजरात की प्रथम महिला मुख्यमंत्रीं आनंदीबेन पटेल ने कार्यभार पूर्व मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद संभाल था, महज दो वर्षो बाद अपने पद से इस्तीफा देते हुए उन्होंने कहा की मैंने दो महीने पहले ही पार्टी से गुजारिश की थी की मुझे अपने पदों से मुक्त कर दिया जाए और अभी फिर इस पत्र के माध्यम से यही अनुरोध कर रही हूं, राज्य में अगले साल होने वाले चुनावो और जनवरी में होने वाले वाइब्रेंट गुजरात महोत्सव से पूर्व अगले होने वाले मुख्यमंत्री को थोड़ा समय मिल जाएगा.

"

Laoding...